Home Blog

औद्योगिक क्रांति के सामाजिक एवं आर्थिक परिणाम बताइए (audyogik kranti ke samajik avn arthik parinaam bataiye)

औद्योगिक क्रांति (audyogik kranti  –

औद्योगिक क्रांति (audyogik kranti) शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग फ्रांस के समाजवादी नेता जेरोम एडोल्फ ब्लांकी ने 1837 में किया था, आगे इंग्लैंड के ऑर्नाल्ड टायनबी मैं इसे लोकप्रिय बनाया औद्योगिक क्रांति के प्रारंभ की कोई निश्चित तारीख नहीं है! औद्योगिक क्रांति कोई आकस्मिक घटना नहीं है अपितु विकास की एक सतत प्रक्रिया है, जो वर्तमान में भी जारी है! 

औद्योगिक क्रांति के आर्थिक परिणाम (audyogik kranti ke aarthik parinam) – 

औद्योगिक क्रांति के परिणामों एवं प्रभावों को निम्नलिखित बिंदुओं के अन्तर्गत समझा जा सकता हैं –

(1) बैंकिंग एवं मुद्रा प्रणाली का विकास – 

औद्योगिक क्रांति ने संपूर्ण आर्थिक परिदृश्य को बदल दिया! परंपरागत बैंकिंग एवं मुद्रा प्रणाली की जगह आधुनिक बैंकिंग व मुद्रा प्रणाली का विकास हुआ हैं! बैंकों के माध्यम से लेन-देन, चेक, ड्राफ्ट आदि का प्रयोग किया जाने लगा! साथ ही धातु मुद्रा की जगह कागजी मुद्रा का प्रचलन हुआ! 

(2) उत्पादन एवं व्यापार में वृद्धि – 

औद्योगिक क्रांति के परिणामस्वरूप वस्तुओं के उत्पादन एवं व्यापार में गुणात्मक एवं मात्रात्मक वृद्धि हुई! नवीन वस्तुओं एवं यातायात व संचार के साधनों का प्रयोग कर सकने के कारण मनुष्य का जीवन सुखमय हुआ! 

(3) नगरीकरण – 

औद्योगिक क्रांति से उपजे रोजगार के नए अवसरों की तलाश में लोग शहरीकरण की प्रक्रिया  तेवर हो गई औद्योगिक केंद्रों के आसपास नवीन शहर विकसित हुए इंग्लैंड में मैनचेस्टर, लिवरपूल, लीडर, फ्रांस में लियोन्स, जापान में ओसाका, अमेरिका में डेट्रायट  या शहरों का उदय हुआ

(4) रोजगार के अवसरों में वृद्धि – 

औद्योगिक क्रांति के परिणामस्वरूप नवीन उद्योगों की स्थापना हुई! जिससे कृषि क्षेत्रों में जनसंख्या का दबाव कम हुआ तथा कृषि के अतिरिक्त अब औद्योगिक क्षेत्र में भी लोगों को रोजगार प्राप्त होने लगा! 

औद्योगिक क्रांति के सामाजिक परिणाम (audyogik kranti ke samajik parinam) – 

(1)  आधुनिक शिक्षा का विकास –  

औद्योगिक क्षेत्र में हुई प्रगति ने शिक्षा के क्षेत्र में भी उन्नति का मार्ग प्रशस्त कर दिया! व्यवसायिक, तकनीकी और प्रौद्योगिकी शिक्षा को अधिक महत्व दिया जाने लगा तथा विश्व के विभिन्न शहरों में बड़े-बड़े इंजीनियरिंग, मेडिकल और मैनेजमेंट संबंधी शैक्षणिक संस्थाओं की स्थापना की गई! 

(2) सामाजिक कुरीतियों एवं रूढ़िवादिता में कमी – 

औद्योगिक क्रांति के परिणामस्वरूप विभिन्न जाति-संप्रदाय को एक ही उद्योग में साथ साथ काम करना होता था, जिससे जातिप्रथा एवं छुआछूत के बंधन कमजोर हुए! साथ ही लोगों में दकियानूसी (रूढ़िवादी) प्रवृत्ति की जगह उन्मुक्त विचार पद्धति का विकास हुआ, परिणामस्वरूप सामाजिक रूढिवादिता में कमी आयी! 

(3) जनसंख्या में वृद्धि – 

औद्योगिक क्रांति ने जनसंख्या वृद्धि को प्रेरित किया! भौतिक संसाधनों में हुई वृद्धि से मानव का जीवन सुखमय हो गया, जिससे जन्म दर में वृद्धि हुई! इसी प्रकार स्वास्थ्य एवं चिकित्सा के क्षेत्र में हुए विकास से मृत्यु दर में कमी आई! इस प्रकार जन्म दर में वृद्धि एवं मृत्यु दर में कमी से जनसंख्या में अत्याधिक वृद्धि हुई! 

(4) महिला सशक्तिकरण – 

औद्योगिक क्रांति के परिणामस्वरुप अत्याधिक श्रम की आवश्यकता हुई, जिसकी पूर्ति पुरूषों से नहीं हो सकी, जिसके कारण महिलाओं को भी उद्योगों में रोजगार प्राप्त हुआ! जिससे महिलाओं की आर्थिक स्थिति में सुधार हुआ एवं वे अधिक अधिकारों की मांग करने लगी! इस प्रकार महिला सशक्तिकरण की पृष्ठभूमि तैयार हो गई! 

भारत के भूगोल से संबंधित प्रश्न (bharat ka bhugol se sambandhit prashn uttar)

भारत के भूगोल से संबंधित प्रश्न (bharat ka bhugol se sambandhit prashn uttar) –

भारत एक विशाल और विविधता वाला देश है! यहां विभिन्न प्रकार की भू आकृतियों पाई जाती है! भारत के भूगोल से संबंधित प्रश्न इस प्रकार है

प्रश्न :-भारत का क्षेत्रफल कितना किमी. है? 

उत्तर :- 32,87,263 वर्ग 

प्रश्न :- क्षेत्रफल के आधार पर भारत का विश्व में कौन स्थान है? 

उत्तर :- क्षेत्रफल के आधार पर भारत का विश्व में सातवां स्थान है! 

प्रश्न :- भारत का उत्तर से दक्षिण विस्तार कितना किमी. है? 

उत्तर :- 3,214 किमी. है! 

प्रश्न :- भारत का पूरब से पश्चिम विस्तार कितना किमी. है? 

उत्तर :- 2,933 किमी. है! 

प्रश्न :- भारत की स्थलीय सीमा की लंबाई कितनी किमी. है?  

उत्तर :- 15,200 किमी. है! 

प्रश्न :- भारत के तटीय भाग की लंबाई कितने किमी. है?  

उत्तर :- भारत के तटीय भाग की लंबाई 7,516.6 किमी. है परंतु मुख्य तटीय भाग की लंबाई 6,100 किमी. है! 

प्रश्न :- भारत कितने देशों के साथ सीमा साझा करता है?  

उत्तर :- सात (7)! 

प्रश्न :- भारत की सर्वाधिक सीमा किसके साथ साझा होती है?  

उत्तर :-  बांग्लादेश (4096 किमी.)! 

प्रश्न :- भारत किन देशों के साथ सीमा साझा करता है?  

उत्तर :- बांग्लादेश, चीन, पाकिस्तान, नेपाल, म्यांमार, भूटान तथा अफगानिस्तान आदि के साथ स्थलीय सीमा साझा करता है! 

प्रश्न :-  भारत के साथ जलीय सीमा साझा करते हैं! 

उत्तर :- पाकिस्तान, श्रीलंका, मालदीव, म्यांमार, बांग्लादेश, थाईलैंड, इंडोनेशिया आदि! 

प्रश्न  :- भारत किन देशों के साथ जल और स्थलीय सीमा दोनों साझा करता है!  

उत्तर :- भारत – बांग्लादेश, म्यांमार और पाकिस्तान के साथ जल और स्थलीय सीमा दोनों साझा करता है! 

प्रश्न :- भारत का सबसे दक्षिणी बिंदु कौन सा है?  

उत्तर :- भारत का सबसे दक्षिणी बिंदु इंदिरा पॉइंट है,जो ग्रेट निकोबार दीप में स्थित है! 

प्रश्न :- भारत का सबसे उत्तरी बिंदु कौन सा हैं?  

उत्तर :- भारत का सबसे उत्तरी बिंदु इंदिरा कॉल जम्मू कश्मीर राज्य में स्थित में स्थित है! 

प्रश्न :- भारत का सबसे पूर्वी बिंदु कौन सा है? 

उत्तर :- भारत का सबसे पूर्वी बिंदु वालांगू हैं जो अरुणाचल प्रदेश में स्थित है! 

प्रश्न :- भारत एवं चीन के बीच कौन सी रेखा हैं? 

उत्तर :- भारत एवं चीन की सीमा को मैकमोहन रेखा कहते हैं! यह रेखा शिमला 1914 ई. में निर्धारित की गई थी!

प्रश्न :- श्रीलंका के बाद भारत का दूसरा सबसे निकटवर्ती समुद्री पड़ोसी देश कौन सा है?  

उत्तर :-श्रीलंका के बाद भारत का दूसरा सबसे निकटवर्ती समुद्री पड़ोसी देश इंडोनेशिया है,जो भारत के दक्षिण पूर्व में स्थित है! 

प्रश्न :-  मानक समय रेखा भारत के कितने राज्यों से होकर गुजरती है? 

उत्तर :- मानक समय रेखा भारत के पांच राज्यों उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, उड़ीसा, आंध्र प्रदेश से होकर गुजरती है! 

प्रश्न :- भारत का मानक समय कितना है  

उत्तर :- भारत का मानक समय इलाहाबाद के निकट मिर्जापुर से गुजरने वाली 82.5° पूर्वी देशांतर रेखा को माना गया है! 

प्रश्न :- भारत का मानक समय ग्रीनविच के समय से कितना आगे है ?  

उत्तर :- भारत का मानक समय ग्रीनविच के समय से 5.30 घंटे आगे है! 

प्रश्न :- भारतीय उपमहाद्वीप में कौन-कौन से देश सम्मिलित हैं ?  

उत्तर :- भारतीय उपमहाद्वीप में भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल और भूटान को शामिल किया जाता है!

प्रश्न :- भारत में कितने राज्य तटरेखा से लगे हुए हैं ? 

उत्तर :- भारत में 9 राज्य तटरेखा से लगे हुए हैं, यह राज्य गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, आंध्रप्रदेश उड़ीसा, पश्चिम बंगाल है! 

प्रश्न :-  भारत की सबसे लंबी तटरेखा वाला राज्य कौन सा है 

उत्तर :- भारत की सबसे लंबी तटरेखा वाला राज्य गुजरात है, जिसकी तट रेखा 1,663 कि. मी. हैं! इसके पश्चात आंध्र प्रदेश की तट रेखा सबसे लंबी है! 

प्रश्न :- कौन सी नदी असम और अरुणाचल प्रदेश के बीच सीमा बनाती है? 

उत्तर :- संकोश नदी असम और अरुणाचल प्रदेश के बीच सीमा बनाती है! 

प्रश्न :- जोजिला दर्रे का निर्माण किस नदी द्वारा किया जाता हैं?  

उत्तर :- जोजिला दर्रे का निर्माण सिंधु नदी द्वारा किया जाता हैं! 

प्रश्न :- भारत की सबसे ऊंची चोटी कौन सी है? 

उत्तर :- गॉडविन ऑस्टिन या K2 काराकोरम की सर्वोच्च श्रेणी है, जो भारत की सबसे ऊंची चोटी है! 

प्रश्न :- दक्षिण भारत की सबसे ऊंची चोटी का नाम क्या है? 

उत्तर :- अनैमुडी (अनैमुदि) अन्नामलाई की पहाड़ी पर स्थित दक्षिण भारत की सबसे ऊंची चोटी हैं, जिसकी ऊंचाई 2,906 मीटर है! 

प्रश्न :- उत्तर भारत की सबसे ऊंची चोटी का नाम क्या है? 

उत्तर :- उत्तर भारत की सबसे ऊंची चोटी का महेंद्रगिरि है

प्रश्न :- भारत का सबसे लंबा हिमनद कौन सा है?

उत्तर :- सियाचिन भारत का सबसे लंबा हिमनद हैं!

आपने इस पोस्ट में भारत के भूगोल से संबंधित प्रश्न उत्तरों के बारे में जाना, इसी प्रकार की पोस्ट पाने के लिए आप हम से जुड़े रहे!

मौर्य काल से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

मौर्य काल से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर (maurya kaal se sambandhit prashn uttar) –

मौर्य वंश भारत के प्राचीन वंशों में से एक है! चंद्रगुप्त मौर्य बिंदुसार अशोक आदि मौर्य साम्राज्य के प्रमुख राजा हुए हैं मौर्य काल से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर इस प्रकार हैं –

प्रश्न :- मौर्य वंश के संस्थापक कौन हैं?

उत्तर :- मौर्य वंश के संस्थापक चंद्रगुप्त मौर्य है, जिनका जन्म 345 ईसा पूर्व में हुआ था!

प्रश्न :- मौर्य वंश का उदय कब हुआ?

उत्तर :- चंद्रगुप्त मौर्य ने 321 ईसा पूर्व मौर्य वंश की स्थापना की!

प्रश्न :- मौर्य वंश का कार्यकाल कितना था?

उत्तर :- मौर्य वंश का कार्यकाल 321-185 ईसापूर्व था

प्रश्न :- चंद्रगुप्त मौर्य के गुरु कौन थे?

उत्तर :- चाणक्य चंद्रगुप्त मौर्य के गुरु थे! चाणक्य को कौटिल्य या विष्णुगुप्त भी कहा जाता था!

प्रश्न :- सेन्ड्रोकोट्टस के नाम से किसे जाना जाता था?

उत्तर :- सेन्ड्रोकोट्टस के नाम से चंद्रगुप्त मौर्य को जाना जाता था

प्रश्न :- चाणक्य ने कौन सी पुस्तक लिखी?

उत्तर :- चाणक्य ने अर्थशास्त्र नामक पुस्तक लिखी थी!

प्रश्न :- चाणक्य द्वारा लिखित अर्थशास्त्र में कितने अध्याय हैं

उत्तर :- चाणक्य द्वारा रचित अर्थशास्त्र में 15 अधिकरणों एवं 180 प्रकरणों में विभाजित है! जिससे मौर्य कालीन इतिहास की जानकारी प्राप्त होती है!

प्रश्न :- चंद्रगुप्त ने सेल्यूकस निकेटर को कब हराया था?

उत्तर :- चंद्रगुप्त ने सेल्यूकस निकेटर को 305 ईसा पूर्व में हराया था!

प्रश्न :- सेल्यूकस ने अपनी पुत्री का विवाह किस राजा से किया था

उत्तर :- सेल्यूकस ने अपनी पुत्री का विवाह राजा चंद्रगुप्त मौर्य से किया था!

प्रश्न :- मेगस्थनीज की पुस्तक का नाम क्या हैं?

उत्तर :- मेगस्थनीज की पुस्तक का नाम इंडिका था!

प्रश्न :- प्लूटार्क के अनुसार चंद्रगुप्त ने सेल्यूकस को कितने हाथी उपहार में दिए थे?

उत्तर :- प्लूटार्क के अनुसार चंद्रगुप्त ने सेल्यूकस को 500 हाथी उपहार में दिए थे!

प्रश्न :- चंद्रगुप्त मौर्य ने जैन धर्म की शिक्षा किन से ली थी?

उत्तर :- चंद्रगुप्त मौर्य ने जैनी गुरु भद्रबाहु से जैन धर्म की दीक्षा ली थी!

प्रश्न :- चंद्रगुप्त मौर्य की मृत्यु कब और कहा हुई?

उत्तर :- चंद्रगुप्त मौर्य की मृत्यु 298 ईसा पूर्व में श्रवणबेलगोला में उपवास के द्वारा हुई!

प्रश्न :- चंद्रगुप्त मौर्य का उत्तराधिकारी कौन था?

उत्तर :- चंद्रगुप्त मौर्य का उत्तराधिकारी बिंदुसार हुआ, जो 298 ईसा पूर्व मगध की राजगद्दी पर बैठा!

प्रश्न :- बिंदुसार किस संप्रदाय का अनुयायी था?

उत्तर :- बिंदुसार आजीवक संप्रदाय का अनुयायी था!

प्रश्न :- बिंदुसार के अन्य नाम बताइए

उत्तर :- बिंदुसार को अमित्रघात के नाम से जाना जाता था? अमित्रघात का अर्थ होता है – शत्रु विनाशक! वायु पुराण में बिंदुसार को भद्रसा या वारिसर कहा गया है! जैन ग्रंथों में बिंदुसार को सिंहसेन कहा गया है!

प्रश्न :- कौन बिंदुसार के दरबार में राजदूत बनकर आया था?

उत्तर :- डाइमेकस बिंदुसार के दरबार में राजदूत बनकर आया था! वह सीरियन नरेश एण्टियोकस के दरबार से आया था!

error: Content is protected !!